Connect with us

हिंदी

लॉकडाउन में काम बंद तो इलाज के लिए पैसा, छलका बेबस पति का दर्द, पत्नी को साइकिल पर ले गया अस्पताल..एंबुलेंस के नहीं थे पैसे

Published

on

लॉकडाउन में काम बंद तो इलाज के लिए पैसा, छलका बेबस पति का दर्द, पत्नी को साइकिल पर ले गया अस्पताल..एंबुलेंस के नहीं थे पैसे Trending News in India

लॉकडाउन का सबसे बुरा असर देश के लाखों गरीब मजदूर परिवारों पर पड़ रहा है। इसी बीच पंजाब में एक ऐसा मामला सामने आया है। जिसकी कहानी दिल को झकझोर देने वाली है। 

दरअसल, यह मामला लुधियान शहर का है। जहां लॉकडउन के चलते एक देवदत्त राम नाम के शख्स को अपनी घायल पत्नी का इलाज कराने के लिए 15 किलोमीटर साइकिल चलाकर अस्पताल लेकर जाना पड़ा। 

मीडिया से बात करते हुए देवदत्त ने कहा- 20 मार्च को फैक्ट्री में काम करते हुए मरी पत्नी का पैर कट गया था। हमने एक-दो दिन घरेलू इलाज किया लेकिन, दर्द कम नहीं हुआ। फिर मैंने एंबुलेंस के चालक को फोन कर बुलाने की कोशिश की। लेकिन वह 15 किलोमीटर का 2 हजार रुपए मांगने लगा। मैंने देने से मन कर दिया। क्योंकि इतने पैसे मेरे पास नहीं थे। कर्फ्यू के चलते कोई बस भी नहीं चल रही थी। आखिर में साइकिल से अस्पताल जाने का फैसला किया।

हिंदी

“जब बाहर से लौटे 7 मजदूरों ने गांव के बाहर पेड़ पर बनायी Quarantine unit, वहीं रहेंगे 14 दिन – Trending News in India

Published

on

“जब बाहर से लौटे 7 मजदूरों ने गांव के बाहर पेड़ पर बनायी Quarantine unit, वहीं रहेंगे 14 दिन – Trending News in India Trending News in India

 चिकित्सकों ने जांच के बाद उन्हें क्वारेंटाइन में रहने की सलाह दी थी. कोरोना का उनमें कोई भी लक्षण नहीं पाया गया. चिकित्सकों की सलाह पर सातों युवकों ने गांव के बाहर एक पेड़ पर क्वारेंटाइन यूनिट बना लिया.

पेड़ के अलग-अलग शाखा पर वे अपना बिस्तर लगाये हैं. कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए गांव के सात युवकों का यह निर्णय एक मिसाल बन गया है. हर कोई उनके इस निर्णय का स्वागत कर रहा है.भांगीडी गांव के स्थानीय लोगों ने बताया कि गांव के सात युवक चेन्नई में कार्य करने गये थे. कोरोना को लेकर देश में अस्थिरता का दौर आरंभ होते ही इनका काम बंद हो गया और यह लोग 22 मार्च को खड़गपुर पहुंचे. यहां चिकित्सकों ने उनकी जांच की.

कोरोना का कोई भी लाक्षण नहीं होने के कारण उन्हें जाने दिया. इन सभी युवकों ने सरकारी दिशानिर्देश और अपनी जिम्मेदारी का पालन करते हुए स्टेशन से सीधे बलरामपुर थाने में आये. अपनी सारी बात बतायी. यहां से उन्हें बलरामपुर प्रखंड ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्र लाया गया. यहां भी उनकी जांच की गयी. कोई भी लक्षण नहीं पाया गया. एहतियात के तौर पर चिकित्सकों ने घर में ही 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन में रहने का सुझाव दिया.

Continue Reading

हिंदी

खाली पेट रहकर करता था पुलिस भर्ती की तैयारी, वर्दी पहनते ही लेट गया अपने पिता के पैरों में, जानें वजह – Trending News in India

Published

on

खाली पेट रहकर करता था पुलिस भर्ती की तैयारी, वर्दी पहनते ही लेट गया अपने पिता के पैरों में, जानें वजह – Trending News in India Trending News in India

अच्छे करियर के लिए कुछ लोग काफी संघर्ष करते हैं और किसी भी सूरत में हार नहीं मानते। ऐसे लोग कठिन से कठिन परिस्थितियों में भी अपने आत्मविश्वास और लगन से सफलता हासिल कर ही लेते हैं। इंडोनेशिया के सेंट्रल सुलेवासी के रहने वाले 19 साल के नवजवान मोहम्मद रिस्की सापुत्रा की कहानी कुछ ऐसी ही है। उसके पिता स्ट्रीट फूड बेचने का काम करते हैं। 

मोहम्मद की मां का कहना है कि उनका सबसे छोटा बेटा शुरू से ही पुलिस में भर्ती होना चाहता था। लेकिन गरीबी के काऱण हम उसे इसकी तैयारी करने की सुविधा नहीं मुहैया करा सकते थे। मोहम्मद की मां ने कहा कि वे लोग गरीब हैं। उनके पति स्ट्रीट फूड बेचते हैं और परिवार की आमदनी का यही एकमात्र जरिया है। लेकिन फिर भी उनके बेटे ने हर हाल में पुलिस में भर्ती के लिए तैयारी करने की ठान ली। कई बार तो वह भूखा ही रह जाता था।

खाली पेट रहकर करता था पुलिस भर्ती की तैयारी, वर्दी पहनते ही लेट गया अपने पिता के पैरों में, जानें वजह – Trending News in India Trending News in India

आखिरकार, उसकी मेहनत रंग लाई और उसका सिलेक्शन हो गया। अभी मोहम्मद सापुत्रा पालु के पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनी है। मार्च में उसकी नियुक्ति हो जाएगी। उसकी मां ने कहा कि तब हम उसके लिए नए कपड़े खरीदेंगे। 

खाली पेट रहकर करता था पुलिस भर्ती की तैयारी, वर्दी पहनते ही लेट गया अपने पिता के पैरों में, जानें वजह – Trending News in India Trending News in India

मोहम्मद को पुलिस में नियुक्ति की जैसे ही जानकारी मिली, वह खुशी से भाव-विभोर हो गया और आशीर्वाद लेने के लिए सड़क पर ही अपने पिता के पैरों पर गिर गया। देखें इससे जुड़ी कुछ तस्वीरें।

Continue Reading

हिंदी

पोते को ​गोद में लेने के लिए तरसता रहा दादा, कोरोना के डर से छू नहीं सका, देखकर भावुक हुए लोग, बाहर से देखकर ही मन – Trending News in India

Published

on

पोते को ​गोद में लेने के लिए तरसता रहा दादा, कोरोना के डर से छू नहीं सका, देखकर भावुक हुए लोग, बाहर से देखकर ही मन – Trending News in India Trending News in India

कोरोना वायरस के चलते दुनिया के कई देशोंं में लॉकडाउन किया गया है। ऐसे में लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी जा रही है। 

इसके साथ ही लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए कहा जा रहा है। इसी बीच सोशल मीडिया पर दादा-पोते की तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। इन दादा-पोते की कहानी पढ़कर लोग भावुक हो रहे है। वायरल पोस्ट में दादा अपने नवजात पोते को खिड़की से देख रहा है। वह अपने पोते को गोद में लेना चाहता है और उसे खिलाना चाहता है। लेकिन, कोरोना की वजह से वह उसे छू भी नहीं सकता। 

वह सिर्फ खिड़की से देखता रहता है। दादा अपने पोते को गोद में लेने के लिए कोरोना के खत्म होने का इंतजार कर रहा है। यह पोस्ट आयरलैंड में रहने वाले मिशेल की है और इसे उसके भाई एमा ने शेयर की है। फोटो में मिशेल अपने नवजात बेटे फालोन को खिड़की से अपने पिता को दिखा रहा हैं। दादा की उम्र 60 से अधिक होने पर वह अपने पोते को छू नहीं पा रहा है। सोशल मीडिया इस पोस्ट को देखकर लोग भावुक हो रहे है।

Continue Reading

Trending